21 वि सदी में PM की उच्च जाती को OBC में एड किया गया. यह हो सकता है तो पाटीदार और अन्य जाती के गरीब पछात लोगो को भी ये दर्जा दिया जाना चाहिए.

patidar-reservation

Gujju Post

जाहिर है मोदी जी की उच्च जाती को 21 वि सदी में यानी सन 2000 के बाद ओबीसी का दर्जा दिया गया है |
वो जन्म से ओबीसी यानी पिछडी जाती से नहीं थे |
और ओबीसी में उनकी जाती को डालने का लाभ मोदी जी ने अपने राजनैतिक जीवन में बहोत लिया.
वो अपने भाषणों में भी भावनात्मक तरीके से लोगो को कहेते पाए गए की ” में भी दलित माँ का बेटा हु ”
जब की हाल ही में दलित छात्र रोहित ने आत्महत्या की तब उनकी ही पार्टी के प्रवक्तायो और HRD मिनिस्ट्री की स्मृति इरानी ने यह साबित करने की कोसिस की रोहित दलित नहीं पर ओबीसी जाती का था.
वैसे जातिवाद पर राजनीति नहीं करने का दावा करने वाली पार्टी सच में जातिवाद की ही राजनीति करती है वो सामने आ गया

ओबीसी के लिए राणे कमिसन बना था
कहा जाता है उस ने शिफारिस की थी की ज्ञाति के आधार के अलावा जमिन धारण,पिछडा व्यवसाय,गाव-शहर का निवास इन चीजो को भी अनामत देने के आधार में शामिल करना चाहिए.

शहर में रेती का कोंट्राकटर कुम्हार जाती का हो और गाव में मिट्टी के बर्तन बनाने वाले कुम्हार जाती का हो वो दोनों के पिछड़े पन को सामान नहीं कह सकते.

यानी शहर का कोंट्राकटर पिछड़े पन से निकल गया है.

मोदी जी को ही देख लीजिये क्या आज उन्हें पिछड़े कह सकते है ?

वो पिछडे पन से बाहर आ गये है. एक ही जाती में दो तरह के लोग शामिल है.
एक जो पिछड़े है और दुसरे जो उस से बाहर निकल गए है.

देखा जाए तो अब 21 वि सदी में दो ही जाती हो गई है
अमीर और गरीब.

सरकार की कोसिस होनी चाहिए की अमीर और गरीब के बिच बहोत बड़ी असमानता बढ़ रही है उसे कम करे.

पर सरकार अमीर को और अमीर बनाने में कार्यरत रहती है
अमीर ही इन व्यवस्थायो का दूरउपयोग करके,अनेइतिक आचरण करके ओर अमीर बनता जा रहा है उसी की खुद की जाती को चूस ने में हीच हिचाता नहीं.

हर वर्ग का अमीर कोई नेता बन गया है कोई बड़ा उध्योगपति,या कोई बड़ा ऑफिसर

दूसरा गरीब जो सभी जातियों में सामान समस्यायों से पीड़ित है
वो सरकारों से, बुद्धिजीवियो से,अदालातो से, आशा की नजर से देख रहा है. शायद उनका जमीर जाग जाए. और उनसे हो रहे अन्याय को दूर करे

यह भी पढ़े अवैध खनन में भाजपा की मिलीभगत से गुजरात की तिजोरी को 1 लाख करोड़ का हुया नुकसान

पूर्ण पोस्ट पढ़ने के लिए Next Button क्लिक करें