भारत का ये इलाका जो भारत के कानून नहीं मानते, उनकी अलग न्यायव्यवस्था और संसद है

alag gaav sansad 2

Gujju Post

भारत में प्राचीन काल से ही लोकतांत्रिक प्रणाली रही है। हिमाचल प्रदेश का यह गाव भी साक्षी है।

  • राजाशाही में भी प्रजा का अंकुश होता था। पंचायत तंत्र अति प्राचीन है।
  • 500 परिवारों का छोटा गाव मलाणा जो 12000 फुट की ऊंचाई पर चंद्रखानी पहाड़ पर कुल्लू में स्थित है
  • कहा जाता है को वो विश्व की प्राचीन संसद वाला गाव है। गाव पहाड़ों व वनों से घिरा है।
  • जो उसकी पुरानी परम्परा को बचाए हुए है और बाहरी प्रभाव में नहीं आया।
  • मणिकर्ण के मार्ग पर जारी ग्राम से 9 किलो मीटर पहाड़ी मार्ग पार कर मलाणा पहुंचते हैं।
  • यहां के लोगों का व्यवसाय खेतीबाड़ी, भेड़-बकरी, पशुपालन, जड़ी बूटियां एकत्रित करना है।

आगे जानिये इस गाव के रहस्यों के बारे में जहा एक बहोत बड़े मुग़ल सम्राट की पूजा होती है और बकरा करता है न्याय

पूर्ण पोस्ट पढ़ने के लिए Next Button क्लिक करें
Prev1 of 9Next