यूरोप और अमरीका में महिलायों को पैरो की जुती समजा जाता था

यह धारणा बन गई है कि पश्चिम में महिलाओं को हमेशा से ज्यादा आजादी थी। वहां के मार्डन सोसाइटी में उनके ऊपर बंदिशें भी कम थीं।

यहां तक स्त्री और पुरुष की बराबरी के मामले में भी हम बात-बात में यूरोप और अमेरिका का नाम लेते रहते हैं। मगर क्या यह सच है?

हम लेकर आए हैं सन 50 से 70 के बीच प्रकाशित कुछ चुनिंदा एड। इन्हें देखिए और बताइए कि क्या पश्चिम में सचमुच औरतों को आजादी थी?

जी हां, कुछ ऐसा होता था Man’s World

vides2

Gujju Post

पूर्ण पोस्ट पढ़ने के लिए Next Button क्लिक करें
Prev1 of 6Next