गुजरात में ”पाटीदार आन्दोलन ख़त्म करो” दिल्ही से कड़े शब्दों में आया फरमान

PTI
PTI

Gujju Post

फरमान के चलते गुजरात सरकार हार्दिक पटेल के खिलाफ लगाए सारे केस वापिस खिचेगी

अबतक सरकार ने 74 केस वापिस खीच लिए है जिस से 250 जितने युवायो को राहत मिली है पर दिल्ही अभी भी संतुस्ट नहीं है क्योकि गुजरात के हालात अभी सुधरे भी नहीं इस लिए दूसरी बार काफी कड़े शब्दों में कहा गया है

दिल्ही के फरमान के चलते अब गुजरात राज्य सरकार हार्दिक के खिलाफ चल रहे देशद्रोह के केस पीछे ले सकती है |

कहा जाता है इस फरमान के पीछे कोंग्रेस की बड़ी भूमिका है | वो भी पाटीदारो युवायो को छुड़ाने बहोत बड़ी रेलिया और सभायो का आयोजन कर रहे है |

कोंग्रेस पाटीदार आन्दोलन हाईजेक करने का प्रयास कर रही है एसा दिल्ही की नेतागिरी को लगने पर वो काफी खफा है

और गुजरात में हार्दिक के दुसरे साथी और समस्त पाटीदार समाज काफी आक्रामक मुड में है

उन्होंने आन्दोलन को ज्यादा तेज कर दिया है बच्चे भी इस आन्दोलन में जुड़ चुके है ये स्कुलो का बहिस्कार कर रहे है

ये काफी चोंका देनेवाला और सरकार को बदनाम करने वाला कदम रहा है

काफी युवा खाना पीना छोड़ के आमरण अनसन पे बैठे है जिसमे बहोतो की हालत गंभीर है |

हॉस्पिटल में काफी लोग भर्ती किये है और वहा भी ग्लूकोज की बोटले चढ़ाई गई है एक का आखरी स्टेटमेंट भी लिया गया है

मुसलमान भी पाटीदारो के सपोर्ट में आये है और अनसन रेलिया सभायो में साथ चल रहे है

पाटीदार आन्दोलन के कन्वीनर हार्दिक पटेल,केतन पटेल,चिराग पटेल,दिनेश बाभनिया, निलेश एरावाडीया जेसे कई पाटीदार युवा देशद्रोह के आरोपों में जेल में बंद है इन लोगो के खिलाफ अलग अलग केस चल रहे है

सरकार अब सारे केस वापिस खीचना चाहती है इसके लिए मीटिंगों का दोर चल रहा है और निकट भविष में इस का नतीजा सामने आयेगा

फिलहाल सरकार ने 74 केस वापिस खीच लिए है जिस से 250 जितने युवायो को राहत मिली है

बीजेपी पाटीदारो से समाधान करने के लिए धार्मिक संस्थायो के लोगो, उध्योगपतियों और सामजिक कार्यकर्ता यो के सहयोग से समाधान कर रही है

सम्भावना है की कल 7 तारीख को हार्दिक के पिताजी और दुसरे पाटीदार आगेवानो की मीटिंग गुजरात CM आनंदीबेन के साथ है इस मामले से लेके हार्दिक से भी पाटीदार सीनियर नेता मिल चुके है

पूर्ण पोस्ट पढ़ने के लिए Next Button क्लिक करें