एग्जाम में चोरी रोकने कहा कहा चेकिंग कर रही है टीचर

सबसे निचे है वीडियो और साथ में बिचमे पढ़िए सीसीटीवी के बाद आब स्टूडेंट को कैसे सताया जाता है.

बिहार की एक्जाम में बहोत ज्यादा चोरी होने की घटनाए सामने आती रही है. CCTV ही एग्जाम में चोरी रोक सकता है. नहीं तो एसे चेकिंग की भी आवश्यकता रहती जो काफी अपमान जनक है. जितना भी चेक कर ले पर ज्यादातर स्टेट में लडकिया ही अव्वल रहती है.

अगर आप एक स्टूडेंट हैं या स्टूडेंट रह चुके हैं तो आपके पास भी नक़ल मारने के तरीके काफी हैं। परीक्षा में नकल मारना गैरकानूनी है लेकिन नकल के कुछ मामले जब सामने आते है जिसपर विश्वास करना मुश्किल हो जाता है। जिस तरह से वे लोग परीक्षा में नकल करते हैं उन तरीको को कोई भी देखकर हैरान रह जाए।

पर जबसे सीसीटीवी कैमरे लगाए है और अच्छे से निगरानी रखी जाती है उसके बाद अब स्टूडेंट को चेकिंग के नाम पर सताया जाता है. पहेले ही बच्चे पढ़ाई की टेंसन में होते है उनके साथ दुर्व्यवहार की खबरे बहोत आई है

अगर वे लोग जितना दिमाग नक़ल के तरीके में लगाते हैं उतना पढ़ाई में लगाएं तो नक़ल करने की जरूरत ना पड़े। ये बात अब हर बच्चा समज गया है.

पढ़िए देश के अलग अलग इलाको से शर्मनाक किस्से जो खबरों में चमके

परीक्षा के कण्णूर स्थित सेंटर पर चेकिंग के दौरान परीक्षा कंट्रोलर द्वारा छात्राओं से उनके इनरवियर उतारने को कहा गया। वहीं परीक्षा देने आई एक छात्रा की मां ने बताया कि परीक्षा सेंटर पर प्रवेश के बाद उनकी बेटी उन्हें अपना इनरवियर देने आई तथा कहा कि चेकिंग के दौरान उनके अंतवस्त्रों को उतारने का आदेश दिया गया। ये घटना बहोत ही शर्मनाक है

सूरत में एक परीक्षा केंद्र पर परीक्षा देने आई शीतल जैन ने बताया कि उसकी टीशर्ट की लंबी बांह को कैंची से काट दिया गया। स्लीवलेस में परीक्षा देनी पड़ी। नथनी, ईयरिंग, माला और साइड के बटन तक निकलवा लिए गए। नीट देशभर के 1,900 से ज्यादा केंद्रों पर आयोजित हुई। इसमें 11 लाख से अधिक एमबीबीएस व बीडीएस उम्मीदवार बैठे थे।

पूरी बाजू की कमीज पहने कई छात्रों से कहा गया कि सिर्फ आधी बाजू की कमीज पहन कर ही परीक्षा भवन में जाने की इजाजत है. इसके चलते उनके पास कोई चारा नहीं बचा. उन्हें कैंची से कमीज की बाजू काटने के लिए मजबूर होना पड़ा. जो लोग जूते पहन कर आए थे उन्हें इसे उतारना पड़ा और अपने माता पिता की चप्पलें पहननी पड़ी. सीबीएसई ने परीक्षा के लिए नये दिशानिर्देश जारी किए थे जिसके मुताबिक नकल रोकने के लिए सिर्फ जरूरी दस्तावेजों के साथ प्रवेश पत्र लाने को कहा गया था.

देखे ये बिहार की एग्जाम के वक्त की वीडियो

वीडियो