3 से 5 लाख करोड़ का घोटाला है नोट्बंदी – बाबा रामदेव (बिकायु मिडिया ने इसपर डिबेट नहीं की )

विदेशी कालेधन के खिलाफ युद्ध छेड़ने वाले योग गुरु बाबा रामदेव ने स्वदेशी कालेधन के खिलाफ की गई कार्यवाही नोटबंदी में बड़ा घोटाला होने का कहा है और साथ में इसकी जांच की मांग की है.

जितनी भी खबरे आई है उसमे ज्यादातर सत्ता पक्ष के लोग पकडे जा रहे है एसे में इसकी जांच कौन करेगा वो भी बड़ा सवाल है. भाजपा के लोग नकली नोट छापते पकड़े गए और हजारो करोड़ के बैग के साथ पकड़े गए पर सबकुछ मिडिया ने दबा दिया किसी तरह की कोई जाँच सामने नहीं आई.

बिकयु मिडिया को फिर से नोट्बंदी वाले दिन की प्रधानमंत्री की वीडियो चलानी चाहिए और उनके जुमलो और नोट्बंदी से हुए देश की तबाही की तस्वीर दिखानी चाहिए.

बाबा रामदेव के इस बयान का किसी ने खंडन नहीं किया पर सरकार ने उन्हें चुप कराने बहोत सारी जमीने और योगा डे मनाने के लिए हजारो करोड़ उनकी पब्लिसिटी के लिए खर्चे है.

आखिर क्या बात है की इतने बड़े आरोप पर देश की बिकायु मिडिया चुप है. किसी ने इस पर कभी बाबा से या सरकार से कोई डिबेट क्यों नहीं की ? जो बंदा ख रहा था 50 दिन बाद आतंकवाद, भ्रस्टाचार, नक्षलवाद, महंगाई, बेरोजगारी ख़तम ना हो जाए तो चौराहे पे खडा कर देना मितरो कहने वाले की कोई खबर नहीं आई.

जरुर बाबा रामदेव के पास भाजपा के काले चिठे है जिस से वो अपने लिए हरयाणा से लेके देश में कई जगह करोडो की जमीने ले रहे है.

पहेले कहा जा रहा था नोट्बंदी भ्रस्टाचार की दवाई है अब कहा जा रहा है भ्रस्टाचार से नोट्बंदी फेल हुई. ये तो यही बात हो गई की कीटनाशक में ही कीड़े पड़ गए

वीडियो