भारतीय सेना के बेकार हथियार के कारण मोदी शासन में UN ने रोके 338 करोड़ रूपए

indian army

Gujju Post

UN कि शांतीसेना में भारत के जवान है.

  • इस साल के अगस्त तक भारत के 2,300 जवान सुडान के मिशन पर हैं।
  • 3,400 जवान कांगो के मिशन पर।
  • UN और भारत में MOU हुया है
  • यूएन ने भारत को बताया कि सेना को दिया गया कोई भी सामान MOU के हिसाब से नहीं था।
  • यूएन ने हथियारों को ‘बेकार’ और ‘किसी काम के लायक नहीं’ बताया था।

आगे जानिये मार्च 2014 से अप्रैल 2016 के बीच रोके गये 338 करोड़ रुपए

पूर्ण पोस्ट पढ़ने के लिए Next Button क्लिक करें
Prev1 of 2Next