क्या सेना सिर्फ नेतायो को Z+ सिक्योरिटी ही देंगे ? कोई पूण्य कार्य पर इतना हंगामा क्यों ?

sri sri sena javan

Gujju Post

नई दिल्ली : मिडिया यमुना किनारे आर्ट ऑफ लिविंग संस्था के एक बड़े कार्यक्रम पर सवाल बनाए जा रहे है.यु कहो की सवाल घड़े जा रहा है.

श्री श्री रविशंकर ने देस का गौरव बढे एसा भव्य आयोजन कर दिया है. जिसमे आखरी घडी में कुछ लोगो द्वारा उपद्रव मचाया जा रहा है.

एक बड़ा सवाल उनलोगों को यह चुभ रहा है की सेना क्यों पुल बना रही है ?

क्या सेना नेतायो के घर और उनके बच्चो के आगे पीछे ही सुरक्षा देगी ? या देस में कही पे फ्लेग मार्च करने ही बनाइ है ? क्या उसका कोई पूण्यकार्य में उपयोग नहीं हो सकता ?

सेना किसी की निजी संपत्ति नहीं है. कोई सार्वजनिक कार्यक्रम में जहा 35 लाख  जितने लोग आने वाले है वहा लोगो के लिए पुल का निर्माण कर ने पे सवाल उठाने वाले बुद्धिजीवी अपनी बुधि का निचले स्तर का प्रदर्शन कर रहे है.

आयो अब करते है प्रयावरण की बात तो जहा कार्यक्रम हो रहा है वह जगह के यमिना नदी का डेटा डेटा ले लीजिये और कोई गटर का डेटा ले लीजिये दोनों के आंकड़े सामान देखने को मिलेंगे यानी प्रयावरण वादी नदी को गटर बना दी तब तक चुप रहे और अब अचानक से उनका पर्यावरण प्रेम उमट के बाहर आ गया.

उनलोगों को सच में यमुना को फिर से नदी बनाना हो तो जरुरत है की श्री श्री रवि शंकर को कहे की आप कार्यक्रम करिए और बाद में इस गटर को फिर से नदी कहने लायक निर्मल बनाने की कोसिस करे.

आम जनता के 1.40 लाख करोड़ रूपए तिजोरी से गायब है क्या 56 इंच का सीना देखता रहेगा ?

पूर्ण पोस्ट पढ़ने के लिए Next Button क्लिक करें