अमरीका परस्त वित्तमंत्रालय के खिलाफ बोलना पडा महेगा भाजपा ने की स्वामी के खिलाफ ये कार्यवाही

subramanyam swami

Gujju Post

नई दिल्ली : भाजपा ने अपने राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी पर कड़ी कार्यवाही शुरू कर दी है इसके तहत स्वामी के दो बड़े कार्यक्रम जिनमें उन्हें बोलना था उसको स्थगित कर दिया है। इस से भाजपा ने उन सभी नेतायो और विचारधारा को कडा संदेस दिया है जो अमेरिका और पश्चिम के खिलाफ बोलते आये है.

सूत्रों से मिली जानकारी में खासकर स्वामी ने अरुण जेटली को वेइटर कहेना महेगा पड़ रहा. जेटली को इस कोमेंट से बहोत बुरा लगा है चीन से आते ही उन्होंने व्यक्तिगत रूप से प्रधानमंत्री से मिलके कड़ी कार्यवाही करने का कहा था.

स्वामी के दो कार्यक्रम में से एक रविवार को मुंबई में होना था, जबकि इसी सप्ताह चेन्नै में आरएसएस की ओर से आयोजित होने वाला था। स्वामी को इन कार्यक्रमों में जाने से या सरकार और मंत्रियों पर हमले करने से रोकना मुश्किल विकल्प था इसलिए कार्यक्रमों को रद्द करवाने का रास्ता अपनाया गया।

पार्टी सदस्यों को लग रहा है कि प्रधानमंत्री का यह संदेश कि ‘किसी को भी लगता है कि वह सिस्टम से बड़ा है तो वह गलत है’, जेटली समेत सरकार पर स्वामी के रोजाना के हमलों पर रोक लगाएगा। टॉप लीडरशिप के स्पष्ट निर्देशों के बिना स्वामी के खिलाफ कुछ भी बोलने में कठिनाई महसूस कर रहे पार्टी सूत्रों को भी लगता है कि स्वामी को अब इन स्पष्ट संकेतों को समझ लेना चाहिए।
दरअसल, बीजेपी लीडरशिप को स्वामी की वजह से शर्मिंदगी की स्थिति पैदा होने का भान है। इसलिए, अब स्वामी पर शिकंजा कसा जाने लगा है। उन्हें पहले भी इशारा किया गया था, लेकिन थोड़े दिनों बाद ही उन्होंने नए सिरे से एकतरफा अभियान छेड़ दिया। इस बार अधिकारियों को ‘अमेरिका का हितैषी’ बताने और इशारों-इशारों में वित्त मंत्री अरुण जेटली को वेइटर कहेने के बाद पार्टी के पास स्वामी को लेकर ऐक्शन लेने के अलावा कोई चारा नहीं बचा।

पार्टी प्रवक्ताओं को भी कुछ समझ नहीं आ रहा था कि स्वामी से कैसे निपटा जाए जो ट्विटर के जरिए लगातार आग उगल रहे थे और सरकार के टॉप अधिकारियों तथा जेटली के खिलाफ खुला हमला बोल रहे थे। ऐसे में प्रवक्ताओं ने स्वामी के हमले के पहले ही दिन सिर्फ इतना कहा था कि यह ‘उनके व्यक्तिगत’ विचार हैं। इससे इतर प्रवक्ताओं के पास कुछ भी बोलने को नहीं रह गया था।

पूर्ण पोस्ट पढ़ने के लिए Next Button क्लिक करें