नोटंकी बाजो को खेल के एम्बेसेडर बनाने से मेडल लाने वाले हुए नाराज

सरकारे जहा देखो वहा राष्ट्रपति से लेके देस के ब्रांड एम्बेसेडर बनाने के लिए कोई चरित्रवान अच्छे समर्पित लोगो के बजाये एसे एसे लोगो को बनाने पे तुली है जिनका इस देस में जमीनी स्तर पे कुछ ज्यादा योगदान नहीं रहा.

हालही में खबरे चल रही थी की अमिताभ बच्चन साब को राष्ट्रपति बनाने के लिस्ट में शामिल किया है. पर भला हो पनामा पेपर्स वालो का जिन्होंने उनका नाम अपनी लिस्ट में पहेले से है ये बता कर देस को सच दिखाया.

अब सलमान भाई को कोन नहीं जानता ? उन्होंने कई बार पतंग चगाई है अपनी फिल्म में बहोत देसभक्ति दिखाई है पर रियो ओलम्पिक उस क्षेत्र में जिन आदर्शो की जरुरत होती है उनमे एक भी नहीं दिखता.

मिल्खा सिंग, योगेश्वर दत्त जैसे नामी खिलाड़ी भी एक्टरो को ब्रांड एम्बेसेडर बनाने से नाराज हुए है. योगेश्वर दत्त खुद कई एसी एड्वरटाइझ के लिए मना कर चुके है जो लोगो का नुकसान करती हो इसलिए एसे लोगो को सम्मान उनकी भावना यो की कद्र करके करना चाहिए

एक नालायक ने पूछा

Apko Haryana Health Ka Brand Ambassador banaya tha 2012 me..Aap doctar the kya? Apne Aids Ki Dawa Viksit Ki thi kya?

उसका जवाब देते योगी ने लिखा

 

लोगो भी खुलके योगी के साथ आये और कहा  मेहनत आप करते हो श्रेय ये स्लैब लोग ले जाते है